अंजना ओम कश्यप की जीवनी हिंदी में

इस पोस्ट में हम बात करने वाले है बोलती बंद करा देने वाली बिहारी न्यूज़ एंकर अंजना ओम कश्यप के बारे में, बड़ा से बड़ा राजतिलक सूरमा चाहे कितना भी वाचाल क्यों न हो उनका अंजना के सामने टिकना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है. – अंजना ओम कश्यप की जीवनी हिंदी में.

अंजना ओम कश्यप की जीवनी हिंदी में

अंजना अपने पत्रकारिता और योग्यता के बल पर किसी भी राज नेता और सेलिब्रिटी की सिटी-पीटी गुम कर देती हैं.

आप अंजना के विचारों से सहमति न रखते हो चाहे उनकी पत्रकारिता में किसी दल विशेष का समर्थन दिखता हो लेकिन आप उनकी क्षमता और योग्यता पर कभी भी सवाल नहीं उठा सकते.

अंजना ओम कश्यप का बचपन

अंजना ओम कश्यप देश की उन लाखों लड़कियों के लिए आदर्श है जो अपना करियर पत्रकारिता में बनाना चाहती हैं. 12 जून 1975 को जन्मी बिहार की अंजना के पिता डॉ ओमप्रकाश तिवारी आरा के रहने वाले थे और उनकी माता बिहार शरीफ की थी, उनके पिताजी रांची में पोस्टेड थे.

अंजना की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा अविभाजित बिहार के रांची शहर में हुई, उन्होंने रांची के प्रतिष्ठित Loreto Convent School से पुरी की, तो ग्रेजुएशन उन्होंने दौलत राम कॉलेज से पूरी की.

उनका सब्जेक्ट जूलॉजी था क्योंकि पिता की तरह उनका भी सपना एक डॉक्टर बनने का था, पर अफसोस के वो अपने सपने को साकार करने में असफल रही.

सामाजिक बुराई सामाजिक बुराइयों को देख उद्वेलित होने वाली अंजना का झुकाव धीरे-धीरे पत्रकारिता की ओर होने लगा, 2002 से अंजना ने जनियाँ से पत्रकारिता की पढ़ाई पूरी की और 2003 उन्होंने पत्रकारिता प्रारंभ कर दिया.

अंजना ओम कश्यप का निजी जीवन

अंजना ओम कश्यप  एवं उनके पति मंगेश कश्यप एक साथ

कॉलेज के दिनों में ही उनकी दोस्ती मंगेश से हुई, वही मंगेश उनके जीवन साथी भी बने, मंगेश सीनियर आईपीएस अधिकारी हैं और दिल्ली पुलिस में पोस्टेड है, आपने उनके बारे में दिल्ली पुलिस की क्लास लगाते हुए भी सुना होगा.

अंजना ओम कश्यप का स्टार जनरलिस्ट बनने का सफर

अंजना का सफर दूरदर्शन के कार्यक्रम आंखों देखी से शुरू हुआ, उसके बाद वो जी न्यूज़, News24 और स्टार न्यूज़ के साथ भी जुड़ी, पर उनके आज तक काफी लकी साबित हुआ आज तक में अंजना को जर्नलिस्ट्स से स्टार जनरलिस्ट बनाया.

अंजना ओम कश्यप का स्टार जनरलिस्ट बनने का सफर

आज हर बिहार परिवार में अंजना को लोग नाम से जानते हैं अंजना आज तक मे सीनियर जर्नलिस्ट, एडिटर और न्यूज़ एंकर हैं पर लोग उनका डिबेट काफी चाव से सुनते हैं अंजना जब बड़ी-बड़ी पॉलिटिकल पार्टियों के प्रवक्ताओं की हवा निकलती हैं और अपने अंदाज में झाड़ भी लगती हैं तो सिस्टम से त्रस्त आम भारतीय दर्शकों का दिल बाग-बाग हो जाता है.

हल्ला बोल, राजतिलक और दिल्ली के दिल में क्या है जैसे कार्यक्रमो ने अंजना ओम कश्यप को भारतीय पत्रकारिता की दुनिया में अलग स्थान दिलाया है.

हालांकि अंजना कई बार विवादों से भी घिरी जब उन्होंने आम आदमी पार्टी के नेता और पूर्व पत्रकार आशीष खेतान की औकात पर सवाल उठा दिया था.

उस वक्त अंजना भी काफी खिंचाई भी हुई थी, एक बार अंजना ने अपना नाम अंजना ओम कश्यप की जगह अंजना ओम मोदी बोल दिया था तो उस समय भी अंजना सोशल मीडिया पर काफी ट्रोल की गई थी.

हालांकि यह एक मामूली गलती थी पर कहते हैं ना कि संसार का चरित्र आलोचक है बस तलाश मौके की ही रहती है.

एक सार्वजनिक कार्यक्रम में जब अंजना ने एक छोटी बच्ची ने सवाल पूछ दिया की आप महिला हैं और वह भी बिहारी महिला क्या कभी आपको डर नहीं लगता?

इस पर अंजना ने दो टूक जवाब दिया की जब आपके आसपास सब कुछ कमजोर हो तो आप सबसे शक्तिशाली होते हैं। बिहार को अपने इस अनमोल रतन पर नाज है.

Also Read: Sushant Singh Rajput Biography हिंदी में

अंजना ओम कश्यप की फिटनेस का राज क्या है

ज्यादातर लोगो की तरह उनकी फिटनेस का राज भी योग और व्यायाम है. वो अपनी फिटनेस पर काफी ध्यान देती है, इसलिए उनकी सुन्दरता और उनकी प्रशंसा दिन प्रतिदिन लोगो के बिच बढती जा रही है.

अंजना ओम कश्यप की फिटनेस का राज क्या है

आशा करता हूँ की यह आर्टिकल अंजना ओम कश्यप की जीवनी आपको पसंद आई होगी और इनसे आपको बहुत कुछ सिखने को मिला होगा.

यदि यह आर्टिकल आपको पसंद आया तो इसे अपने दोस्तों के साथ Whatsapp और Facebook पर शेयर करे. ताकि वे भी इस Biography से कुछ सिख सके और अपने जीवन में कुछ बड़ा कर सके.

Useful Link
Bihar GKClick Here

Leave a Comment